” Dreams “

Dreams To
To do something in life,
To become something in life,
To fly high and touch the heights,
To Make fate with own hands,
To achieve success on its own…

Shabdsiyapaaa©

Only Kabir ©

Advertisements

“Kismat”

किस्मत खफ़ा हैं ज़रा अभी
वक़्त से बेईमानी जो कि हैं हमने
सम्भलने की कोशिश हैं थोड़ी
क्योंकि बेफ़िज़ूली में वक़्त बहुत गवाया हमने
किस्मत फिर मुट्ठी में होगी
क्योंकि चलें हैं फिर से वक़्त के वफ़ादार बनने

Shabdsiyapaaa©

Create a website or blog at WordPress.com

Up ↑